मोहन भागवत-हम सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हैं


मोहन भागवत ने कहा कि हमे कोर्ट के इस फैसले को जीत या हार के रूप में नहीं देखना चाहिए..

मोहन भागवत-हम सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हैं


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को ऐतिहासिक फैसला बताया है। इस मामले में संघ ने अपने स्वयंसेवकों को पहले ही हिदायत दे दी थी कि फैसला किसी भी पक्ष में हो शांति और सुरक्षा का ध्यान सर्वपरि है। फैसला अगर पक्ष में आया तो लोग अपने घर और स्थानीय मंदिरों में दिए जलाकर जश्न मनाएं, लेकिन फैसला खिलाफ आया तो भी हम शांति बहाल रखने के पक्ष में हैं।

एक प्रेस कॉंफ्रेंस कर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अयोध्‍या जमीन विवाद पर आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्‍वागत किया। उन्‍होंने कहा कि अयोध्‍या जमीन विवाद के फैसले को जीत-हार के रूप में बिल्‍कुल न देखें। ये समय भरतभक्ति को और मजबूत करने का है। ये फैसला न्‍याय प्रक्रिया को और मजबूत करता है। अब अतीत को भुलाकर मिल-जुलकर मंदिर का निर्माण करना चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन पर  राम मंदिर बनाने का आदेश दिया है साथ ही मुस्लिम पक्ष को मस्जिद के लिए अयोध्या में ही पांच एकड़ जमीन किसी दूसरी जगह दी जाने का फैसला सुनाया है। मोहन भागवत ने कहा, 'हम सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हैं। कोर्ट के इस फैसले को जीत या हार के रूप में नहीं देखना चाहिए।

Recent Posts

Categories