‘उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड’ का शुभारंभ, सीएम योगी ने किया उद्घाटन


कोरोना वायरस को खत्म करने लिए देश में चौथी बार 31 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया है. लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है. जिसको दोबारा पटरी पर लागे के लिए केंद्र से लेकर राज्य सरकारें लगातार प्रयास करने में जुटी हुई है.

 ‘उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड’ का शुभारंभ, सीएम योगी ने किया उद्घाटन


लॉकडाउन में सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था को फिर से गति देने की कवायद शुरू हो गई है, इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड’ का शुभारंभ किया और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक को 15 करोड़ की प्रथम किस्त सौंपी.

कोरोना वायरस को खत्म करने लिए देश में चौथी बार 31 मई तक के लिए लॉकडाउन लगाया गया है. लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था पटरी से उतर गई है. जिसको दोबारा पटरी पर लागे के लिए केंद्र से लेकर राज्य सरकारें लगातार प्रयास करने में जुटी हुई है. इस बीच  सीएम योगी  ने लखनऊ में उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड का शुभारंभ किया और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक को 15 करोड़ की प्रथम किस्त सौंपी है.

नवोन्मेष और नवाचारों को प्रोत्साहित करने के लिए @UPGovt द्वारा नीतिगत प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में आज 'उत्तर प्रदेश स्टार्टअप फंड' के तहत भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI) को प्रथम किस्त का अंतरण... https://t.co/JUTI02vyCZ

— Yogi Adityanath (@myogiadityanath) May 20, 2020

इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि नए यूपी सरकार नए स्टार्टअप फंड का नवोन्मेष और नवाचारों को प्रोत्साहित करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार नीतिगत प्रयास कर रही है, साथ ही सीएम योगी कहा कि अब तक राज्य सरकार ने 16 लाख से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों की प्रदेश में सकुशल और सुरक्षित वापसी हो चुकी है. अलग-अलग राज्यों से आठ लाख पचास हजार से ज्यादा प्रवासी श्रमिकों को लेकर 656 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें प्रदेश में आ चुकी हैं, अगले दो दिन में 258 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें और आएंगी.

साथ ही सीएम योगी ने उन्होंने बताया था कि राज्य सड़क परिवहन निगम की 12 हजार बसों के जरिए प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जनपद में भेजने की व्यवस्था की गयी है. इसके अलावा हर जिलाधिकारी की निगरानी में 200 बसें रखते हुए इस प्रकार सभी 75 जिलों में 15 हजार बसें अतिरिक्त रूप से उपलब्ध कराई गई हैं.

गौरतलब है कि कोरोना के संकट काल में पूरे देश की औद्योगिक और आर्थिक गतिविधियां काफी प्रभावित हुई हैं, हालंकि सरकार अब धीरे-धीरे उद्योगों को पटरी पर लाने का प्रयास कर रही है. इसी कड़ी में यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार भी कोरोना वायरस से प्रभावित आर्थिक गतिविधियों की बहाली के लिए औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने की कवायद शुरू कर दी है और उम्मीद है कि जल्द ही धीमी पड़ी अर्थव्यवस्था की चाल एक बार फिर से रफ्तार पकड़ेगी.

Recent Posts

Categories