बिहार के 23 ज़िलों के 206 प्रखंड सूखाग्रस्त घोषित


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को राज्य में कम वर्षा होने के कारण समीक्षा बैठक की। इसमें उन्होंने 23 ज़िलों के 206 प्रखंडों को सूखा घोषित कर दिया है।

बिहार के 23 ज़िलों के 206 प्रखंड सूखाग्रस्त घोषित


बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को राज्य में कम वर्षा होने के कारण समीक्षा बैठक की। इसमें उन्होंने 23 ज़िलों के 206 प्रखंडों को सूखा घोषित कर दिया है। कृषि विभाग के द्वारा तीन स्तर पर आकलन किया गया जिसके बाद ये निर्णय लिया गया।

सूखाग्रस्त प्रखंड के किसानों को  सहकारिता ऋण, राजस्व लगान और सेस, पटवन शुल्क और कृषि से सम्बंधित विधुत शुल्क की वसूली पर रोक रहेगी। फ़सल की सुरक्षा और बचाव के लिए डीज़ल बीज आदि पर सब्सिडी का इंतज़ाम किया जायेगा। अधिकतम दो हेक्टेयर की सिमा तक सब्सिडी SDRF और NDRF के अनुरूप मान्य रहेगा।

सब्सिडी के लिए किसानों को 15 नवंबर तक निबंधन कराना है। याद रहे की फ़सल योजना सहायता के लिए निबंधन की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर है। मुख्यमंत्री ने ये भी कहा की सूखाग्रस्त ज़िलों के किसानों को फ़सल योजना सहायता का लाभ मिलेगा। सूखाग्रस्त इलाके में चापाकल लगाने का भी आदेश दिया।

मुख्यमंत्री ने MGNREGA के तहत जल संरक्षण योजनाएं चलाने का निर्देश दिया। इन ज़िलों के प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित किया गया: पटना, मुजफ्फरपुर, नालंदा, भोजपुर, बक्सर, कैमूर, गया, जहानाबाद, औरंगाबाद, नवादा, सारण, सिवान, गोपालगंज, बांका, भागलपुर, जमुई, शेखपुरा, वैशाली, दरभंगा, समस्तीपुर, मुंगेर, सहरसा।
 

Recent Posts

Categories