यूथ ओलम्पिक 2018: किसान के बेटे ने जीता तीरंदाज़ी में सिल्वर मेडल


हरियाणा के किसान के बेटे आकाश मलिक यूथ ओलिंपिक गेम्स की तीरंदाज़ी स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। आकाश ने कहा ,‘ मैंने तेज़ हवाओं में अभ्यास किया था लेकिन यहां हवा बहुत तेज़ थी।

यूथ ओलम्पिक 2018: किसान के बेटे ने जीता तीरंदाज़ी में सिल्वर मेडल


हरियाणा के किसान के बेटे आकाश मलिक यूथ ओलिंपिक गेम्स की तीरंदाज़ी स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं। 

हालांकि 15 वर्षीय आकाश को फाइनल में अमेरिका के ट्रेंटन कोलेस ने 6-0 से हराया। जहां आकाश ने कुल 79 अंक हासिल किए तो वहीं ट्रेनटोन को 85 अंक हासिल हुए। इससे पहले, सेमीफाइनल मैच में आकाश ने बेल्जियम के सीना रूस को 6-0 से हराकर अपना पदक पक्का करते हुए फाइनल में प्रवेश किया था।   

आकाश ने कहा ,‘ मैंने तेज़ हवाओं में अभ्यास किया था लेकिन यहां हवा बहुत तेज़ थी। कोलेस दमदार प्रतिद्वंद्वी था और मेरे पास कोई मौका नहीं था।’ दरअसल आकाश ने छह साल पहले तीरंदाज़ी शुरू की जब शारीरिक ट्रेनर और तीरंदाज़ी कोच मनजीत मलिक ने उसे ट्रायल के दौरान चुना।

बता दें आकाश के पिता नरेंदर मलिक गेहूं और कपास की खेती करते हैं लेकिन वह कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा किसान बने।आकाश ने पिछले साल युवा ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था।

साथ ही एशिया कप के पहले चरण में स्वर्ण, दूसरे में दो कांस्य और दक्षिण एशियाई चैम्पियनशिप में एक रजत और एक कांस्य पदक जीता था।

आपको बता दें भारत ने इन खेलों में 3 गोल्ड, 9 सिल्वर और 1 ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किए हैं।