खीरे की फ़सल को ऐसे बचाएं फफूंद से


खीरा में तकरीबन 86 हानिकारक कीटनाशक अवशेष पाए गए हैं। ये खोज अमेरिकी कृषि विभाग के आंकड़ों के अनुसार मिली है। इनमें से 10 कैंसर का कारण हो सकते हैं, 32 हार्मोन्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं। जबकि 17 न्यूरोटोक्सिन और 10 प्रजनन तंत्र के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं।

खीरे की फ़सल को ऐसे बचाएं फफूंद से


खीरा में तकरीबन 86 हानिकारक कीटनाशक अवशेष पाए गए हैं। ये खोज अमेरिकी कृषि विभाग के आंकड़ों के अनुसार मिली है। इनमें से 10 कैंसर का कारण हो सकते हैं, 32 हार्मोन्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं। जबकि 17 न्यूरोटोक्सिन और 10 प्रजनन तंत्र के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं।

साथ ही रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि खीरे को धोने के बाद भी ये रसायन रह सकते हैं। हालंकि इसको छीलने से इसकी संभावना कम हो जाती है। इस तरह के हानिकारक पेस्टीसाइड अन्य सब्जियों में भी हो पाए जाते हैं।यही  कारण है कि पौधों से रोगजनकों को खत्म करने के लिए प्राकृतिक और जैविक खेती का विकल्प और भी ज़रूरी हो गया है।

कैसे करें हानिकारक कीटनाशक से बचाव-

खीरे पर चमकदार पदार्थ पौटेशियम फॉस्फफाइट (केपीआई) का इस्तेमाल करें। इसे करने से खीरे के हानिकारक कैमिकल्स खत्म हो जाते हैं। बता दें कुछ समय पहले ही खीरे के पौधों से घातक फफूंदी को हटाने में इसे असरदार पाया गया है। साथ ही इसके इस्तेमाल के बाद पत्तियों में लगे फफूंद में भी कमी देखने को मिली।