क्या है बायोगैस और गोबर धन योजना?


बायोगैस ऊर्जा का एक ऐसा स्रोत है, जिसका बार-बार इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका उपयोग घरेलू तथा कृषि कार्यों के लिए भी किया जा सकता है। इसका मुख्य घटक हाइड्रो-कार्बन है, जो ज्वलनशील है और जिसे जलाने पर ताप और ऊर्जा मिलती है।

क्या है बायोगैस और गोबर धन योजना?


बायोगैस-

बायोगैस ऊर्जा का एक ऐसा स्रोत है, जिसका बार-बार इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका उपयोग घरेलू तथा कृषि कार्यों के लिए भी किया जा सकता है। इसका मुख्य घटक हाइड्रो-कार्बन है, जो ज्वलनशील है और जिसे जलाने पर ताप और ऊर्जा मिलती है।

बायोगैस का उत्पादन एक जैव-रासायनिक प्रक्रिया द्वारा होता है, जिसके तहत कुछ विशेष प्रकार के बैक्टीरिया जैविक कचरे को उपयोगी बायोगैस में बदला जाता है। चूंकि इस उपयोगी गैस का उत्पादन जैविक प्रक्रिया (बायोलॉजिकल प्रॉसेस) द्वारा होता है, इसलिए इसे जैविक गैस (बायोगैस) कहते हैं।

बायोगैस के फ़ायदे-

1. इससे प्रदूषण नहीं होता है यानी यह पर्यावरण प्रिय है।

2. बायोगैस उत्पादन के लिए आवश्यक कच्चे पदार्थ गांवों में प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है।

3. इनसे सिर्फ बायोगैस का उत्पादन ही नहीं होता, बल्कि फसलों की उपज बढ़ाने के लिए समृद्ध खाद भी मिलता है।

4. गांवों के छोटे घरों में जहां लकड़ी और गोबर के गोयठे का जलावन के रूप में इस्तेमाल करने से धुएं की समस्या होती है, वहीं बायोगैस से ऐसी कोई समस्या नहीं होती।

5. यह प्रदूषण को भी नियंत्रित रखता है, क्योंकि इसमें गोबर खुले में पड़े नहीं रहते, जिससे कीटाणु और मच्छर नहीं पनप पाते।

6. बायोगैस के कारण लकड़ी की बचत होती है, जिससे पेड़ काटने की जरूरत नहीं पड़ती। इस प्रकार वृक्ष बचाये जा सकते हैं।

गोबर धन योजना-

ये योजना बजट 2018-19 में बुई थी। इस योजना के मुख्यत: दो उद्देश्य हैं- गाँवों को स्वच्छ बनाना और पशुओं और अन्य प्रकार के जैविक अपशिष्ट से अतिरिक्त ऊर्जा उत्पन्न करना।
गोबर-धन योजना के अंतर्गत पशुओं के गोबर और खेतों के ठोस अपशिष्ट पदार्थों को कम्पोस्ट, बायोगैस, बायो-CNG में परिवर्तित किया जाएगा।

1. ‘गोबर धन योजना’ से ग्रामीण क्षेत्रों को कई लाभ मिलेंगे और गांव को स्वच्छ रखने में मदद मिलेगी।

2. इससे पशु-आरोग्य बेहतर होगा और उत्पादकता बढ़ेगी।

3. बायोगैस से खाना पकाने और लाइटिंग के लिए ऊर्जा के मामले में आत्मनिर्भरता बढ़ेगी।

4. किसानों और पशुपालकों को आमदनी बढ़ाने में मदद मिलेगी।

5. बायोगैस की बिक्री आदि के लिए नई नौकरियों के अवसर मिलेंगे।