सर्दियों में कैसे रहें सेहतमंद?


सर्दियाों में हमें अपनी सेहत पर ध्यान देना ज़रुरी हो जाता है। ज़रा सी लापरवाही बरतते हैं तो कई बीमारियां पीछे लग जाती हैं। जानते हैं सर्दियाों में अपनी सेहत के कैसे ध्यान दें-

सर्दियों में कैसे रहें सेहतमंद?


सर्दियाों में हमें अपनी सेहत पर ध्यान देना ज़रुरी हो जाता है। ज़रा सी लापरवाही बरतते हैं तो कई बीमारियां पीछे लग जाती हैं। 

जानते हैं सर्दियाों में अपनी सेहत के कैसे ध्यान दें- 

1. संतुलित भोजन
भोजन शरीर को ऊर्जा देता है। भोजन में आमतौर पर कार्बोहइड्रेट की मात्रा पाई जाती है लेकिन यह शरीर के लिए काफी नहीं होते हैं। शरीर को वसा, प्रोटीन, फाइबर और तरल पदार्थों की भी उतनी ही ज़रुरत होती है।

ज़्यादा तला, भुना खाने के बजाय मौसमी फल, हरी सब्जियों पर ज़ेर देना चाहिए। भोजन के साथ हरी सब्जियाँ, सलाद व सूप लें। इससे शरीर को पर्याप्त पोषक तत्व और फाइबर मिलेगा। शरीमें पानी की कमी न होने दें।

2. धूप-

सर्दियों में धूप की अवधि कम हो जाती है। दोपहर के तकरीबन दो-तीन घंटे तक ही धूप खिली रहती है।  विटामिन-डी की कमी के चलते ऐसी समस्याएं देखने को मिलती हैं. सूरज की रोशनी को विटामिन-डी का अच्छा और आसान स्रोत माना जाता है। 

3. अंदर कपड़े न सुखाएं-
घर के अंदर गीले कपड़े सुखाने से घर में एसलडीहाइडेट और बेंजीन के कण हवा में घुल जाते हैं, .जिससे त्वचा को हानि पहुँचती है। अस्थमा जैसे रोगों से पीड़ित लोगों के लिए यह और भी घातक माना जाता है। इसके अलावा भी अगर गीले कपड़ों को घर के अंदर सुखाया जाता है तो सिरदर्द, गले में खराश और आँखों में जलन जैसी समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है।

4. क्रीम-

सर्दियों में क्रीम का अधिक इस्तेमाल त्वचा को नुकसान पहुंचाता है। दरअसल, सर्दियों की ठंडी हवा, त्वचा को शुष्क बना देती है। इसलिए त्वचा को नरम बनाने के लिए नमी वाले पदार्थों की आवश्यकता होती है। अधिक क्रीम लगाने से त्वचा पर धूल और मिट्टी के कण देर तक जमे रहने की संभावना बढ़ जाती है।

5. व्यायाम-

सर्दियों में शरीर को अधिक पेशीय बल की ज़रुरत होती है इसलिए हर रोज व्यायाम करना ना भूलें। दरअसल, सर्दियों में शारीरिक सक्रियता घटने से शरीर का वज़न बढ़ने की आशंका बढ़ जाती है। इसके अलावा व्यायाम करना शरीर के लचीलेपन को भी बनाए रखता है।

Recent Posts

Categories