ऐसे मिल जाएगी सफ़ेद दाग से छुट्टी


बहुत से ऐसे लोगों को देखा होगा जिनकी त्वचा पर सफ़ेद दाग पड़े होते हैं। वहीं अब वैज्ञानिकों ने विटिलिगो यानी सफेद दाग के इलाज की ऐसी तकनीक विकसित की है। इससे कुछ ही हफ्तों में इसे ठीक करना हो सकेगा. यह एक ऐसा रोग है।

ऐसे मिल जाएगी सफ़ेद दाग से छुट्टी


बहुत से ऐसे लोगों को देखा होगा जिनकी त्वचा पर सफ़ेद दाग पड़े होते हैं। वहीं अब वैज्ञानिकों ने विटिलिगो यानी सफेद दाग के इलाज की ऐसी तकनीक विकसित की है। इससे कुछ ही हफ्तों में इसे ठीक करना हो सकेगा. यह एक ऐसा रोग है।

बता दें इससे त्वचा को रंग देने वाली कोशिका काम करना बंद कर देती है. जिसके वजह से शरीर पर सफ़ेद धब्बे पड़ जाते है। आपको बता दें अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ मैसाचुसेट्स के शोधकर्ता जॉन हैरिस का कहना है की अभी तक जितनी भी तकनीके इस रोग के इलाज के लिए विकसित हुई है सब में लगभग एक से दो साल का साल का समय लग जाता है।

वहीं कई बार इलाज के बाद ऐसा होता है की एक या साल बाद फिर ये दाग उसी जगह पर दिखने लगते है. दोबारा उसी जगह दाग इसलिए बनते हैं, क्योकी शरीर में उस जगह पर नई कोशिकाएं नहीं विकसित हो पाती है. यही कारण है की वे दाग पुनः दिखाई देनी लगते हैं। साथ ही अब वैज्ञानिकों ने उन कोशिकाओं को पहचानने में सफलता हासिल कर ली है जो इन कोशिकाओं को पहचान सकती है जिससे इसका इलाज पूर्तयः संभव हो सके. वैज्ञानिकों का कहना है कि इन कोशिकाओं को नष्ट करने से सफेद दाग का इलाज जल्दी हो सकेगा और दोबारा इसे होने से भी ज्यादा समय तक रोका जा सकेगा।



यह भी पढ़ें-

जानिए एक बेमिसाल महिला किसान की कहानी

http://www.panchayatitimes.com/newsdetail.php?id=458#



इस रोग के शुरूआती लक्षण

त्वचा की रंगत में सफेदी नज़र आने के साथ ही रोये सफेद होने लगे तो समझ जाइए की इस रोग की शुरूआत हो चुकी है। ऐसे दाग पर खुजली या दर्द जैसे लक्षण नहीं दिखते और त्वचा की संवेदनशीलता भी बनी रहती है।