क्यों पशुपालक को पद्म श्री से नवाज़ा गया?


बता दें देश में पहली बार सरकार द्वारा पशुपालन के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वाले लोगों को पद्म श्री आवार्ड से नवाजा गया है। दरअसल राष्ट्रपति भवन में महामहीम रामनाथ कोविंद ने किसान नरेंद्र सिंह को यह सम्मान दिया है. किसान नरेंद्र सिंह की इस उपलब्धि के बाद उनके गांव में जश्न का माहौल बना हुआ है. जब नरेंद्र सिंह गांव में खुली जीप से पहुंचे तो ग्रामीणों ने उनका स्वागत ढोल और नगाड़ों से किया।

क्यों पशुपालक को पद्म श्री से नवाज़ा गया?


बता दें देश में पहली बार सरकार द्वारा पशुपालन के क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने वाले लोगों को पद्म श्री आवार्ड से नवाजा गया है। दरअसल राष्ट्रपति भवन में महामहीम रामनाथ कोविंद ने किसान नरेंद्र सिंह को यह सम्मान दिया है. किसान नरेंद्र सिंह की इस उपलब्धि के बाद उनके गांव में जश्न का माहौल बना हुआ है. जब नरेंद्र सिंह गांव में खुली जीप से पहुंचे तो ग्रामीणों ने उनका स्वागत ढोल और नगाड़ों से किया।

वहीं डिडवाड़ी गांव में आयोजित किये गए सम्मान समारोह में महामहीम से प्राप्त पद्म श्री पुरस्कार को किसान नरेंद्र सिंह ने ग्रामिणों को सौप दिया. उन्होंने कहा राष्ट्रपति ने मुझे सम्मानित नहीं किया है बल्कि पूरे गांव को सम्मानित किया है। सीथ ही ये काम केवल मैंने नहीं बल्कि पूरे गाववासियों ने किया है. देश से लगभग एक लाख लोगों ने आवेदन किया था जिसमे से मात्र 45 लोगों को चुना गया। बता दें इन्हीं 45 लोगों में से 5 लोग हरियाणा से चुने गए. पशुपालन के क्षेत्र में मुर्राह नस्ल भैंस और साहीवाल नस्ल के बैल व हरियाणवी नस्ल के पशुओं के संरक्षण के लिए ये सम्मान मिला है।



यह भी पढ़ें-

जानिए एक बेमिसाल महिला किसान की कहानी

http://www.panchayatitimes.com/newsdetail.php?id=458#



अब हरियाणा सरकार में पंचायत सचिव के पद पर नियुक्त पशुपालक नरेंद्र सिंह को दिल्ली में आयोजित सम्मान समारोह में महामहीम रामनाथ कोविंद ने सम्मानित किया. जो डिडवाडी के गांव के लिए गर्व की बात है. पशुपालक नरेंद्र सिंह ने ये सम्मान अपने गांव के बुजुर्गो को समर्पित कर दिया। साथ ही यह सरकार की सरहनीय पहल है, जिससे किसान के साथ-साथ देश का भी मान बढ़ेगा।

 
 

Recent Posts

Categories