ये है बीजेपी का घोषणापत्र


लोकसभा चुनाव 2019 को देखते हुए कांग्रेस और सपा के घोषणापत्र जारी होने के बाद भाजपा ने भी सोमवार को लोकसभा चुनाव के लिये घोषणा पत्र जारी किया. भाजपा ने इसे 'संकल्प पत्र' नाम दिया है. वहीं घोषणा पत्र जारी करने के दौरान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि 'आजादी के 75 वीं वर्षगांठ तक यानी साल 2022 तक के लिए 75 संकल्प लिये हैं.'

ये है बीजेपी का घोषणापत्र


लोकसभा चुनाव 2019 को देखते हुए कांग्रेस और सपा के घोषणापत्र जारी होने के बाद भाजपा ने भी सोमवार को लोकसभा चुनाव के लिये घोषणा पत्र जारी किया. भाजपा ने इसे 'संकल्प पत्र' नाम दिया है. वहीं घोषणा पत्र जारी करने के दौरान भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि 'आजादी के 75 वीं वर्षगांठ तक यानी साल 2022 तक के लिए 75 संकल्प लिये हैं.'

आपको बता दे कि भाजपा का घोषणापत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह , संसदीय बोर्ड के सदस्यों समेत अन्य केंद्रीय मंत्रियों की मौजूदगी में जारी हुआ. इस दौरान विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृह मंत्री राजनाथ सिह समेत बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

साथ ही भाजपा का ‘संकल्प पत्र’ जारी होने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 12 कमेटियों ने संकल्प पत्र बनाने में मदद की. काफी लोगों से बात की गई. इस दस्तावेज में नए भारत के निर्माण के लिए बातें लिखी गई है. सोशल मीडिया, मन की बात कार्यक्रम, 7700 से अधिक सुझाव पेटियों के माध्यम से संकल्प पत्र बनाया गया है।

वहीं स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ, यानी वर्ष 2022 के लिए 75 संकल्प लिए गए हैं. साथ ही आतंकवाद पर जीरो टॉलरेंस की नीति है. यूनिफॉर्फ सिविल कोड के प्रति हमारी प्रतिबद्धता है. अवैध घुसपैठ को रोकने के लिए जितनी सख्ती हो सकती है हम करेंगे. सिटीजनशिप बिल को हम लागू करेंगे. हम संस्कृति पर आंच नहीं आने देंगे. देश की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करेंगे. राम मंदिर के लिए हम हर संभव कोशिश करेंगे. उसके रास्ते तलाशेंगे. हम किसानों की आय दोगुनी करेंगे. पहले भी हमने वादा किया था, इसे लागू करने के लिए और कदम उठाएंगे. एक लाख तक जो क्रेडिट कार्ड पर किसानों को लोन मिलता है, उसपर पांच साल तक जीरो ब्याज लगेगा.

केंद्रीयमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि 'सभी किसानों को 6 हजार सालाना दिया जाएगा. पहले यह गरीब किसानों को मिलता था. छोटे और सीमांत किसानों को, जिनकी उम्र 60 साल से ऊपर हो चुकी है उन्हें पेंशन की सुविधाएं देंगे. देश के छोटे दुकानदारों को, जिनकी उम्र 60 साल से ऊपर हो चुकी है उन्हें पेंशन दिया जाएगा. खर्च घटाने के लिए पार्टी एक साथ संसद और विधानसभा का चुनाव साथ कराने के लिए प्रतिबंद्ध है. साल 2025 तक 5 लाख करोड़ डॉलर और वर्ष 2032 तक 10 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा. इंफ्रास्ट्रक्र क्षेत्र में 100 लाख करोड़ रुपए का पूंजीगत निवेश किया जाएगा।

Recent Posts

Categories