महाराष्ट्र में भाजपा मजबूत,विपक्ष ने भी माना फडणवीस का लोहा


लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान खत्म हो गया है। महाराष्ट्र के कद्दावर नेताओं का राजनीतिक भविष्य तय EVM में कैद हो गया है। इस चरण के चुनाव में शरद पवार, मोहिते-पाटील, विखे पाटील और दिवंगत वसंतराव दादा पाटील जैसे महाराष्ट्र के दिग्गज राजनीतिक घरानों के उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में दर्ज हो गई है।

महाराष्ट्र में भाजपा मजबूत,विपक्ष ने भी माना फडणवीस का लोहा


लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान खत्म हो गया है। महाराष्ट्र के कद्दावर नेताओं का राजनीतिक भविष्य तय EVM में कैद हो गया है। इस चरण के चुनाव में शरद पवार, मोहिते-पाटील, विखे पाटील और दिवंगत वसंतराव दादा पाटील जैसे महाराष्ट्र के दिग्गज राजनीतिक घरानों के उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में दर्ज हो गई है। इसके अलावा प्रकाश आंबेडकर की पार्टी भारिपा बहुजन महासंघ (बीबीएम) और ओवैसी बंधु की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के गठबंधन वाली वंचित बहुजन आघाडी (वीबीए) भी शामिल हैं। महाराष्ट्र में लोकसभा की कुल 48 सीटों में से 17 सीटों पर पहले और दूसरे चरण में मतदान हो चुका है। कुछ सीटों पर कई लोगो के टिकट काटकर नए चेहरों को मौका दिया गया है।

इन सबके बाद भी अगर हम महाराष्ट्र की स्थीती देखें तो यहा पर भाजपा मजबूत नजर आ रही है। और इसकी वजह है महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस। देवेंद्र फडणवीस ने जिस तरह बार-बार मार्च लेकर मुंबई आए किसानों को शांति से संतुष्ट करके वापस भेजा। भीमा कोरेगांव कांड और मुंबई में मुसलमानों की रैली के बाद भड़की हिंसा के बावजूद कानून व्यवस्था को बिगड़ने नहीं दिया और यह कोई बडा मुद्दा नहीं बन सका। सियासी मामलों में भी मुख्यमंत्री ने जिस परिपक्वता का परिचय दिया है उसके भाजपा के साथ साथ विपक्षी दल भी कायल हैं। और यही वजह है की महाराष्ट्र में भाजपा का डंका बोल रहा है।