राहुल गांधी का चुनाव आयोग को जवाब, नहीं किया आचार संहिता का उल्लंघन


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव आयोग को 11 पन्नों में जवाब भेजा है। राहुल गांधी ने अपनें जवाब में कहा है कि जब शहडोल में उन्होंने कहा था कि मोदी सरकार ने ऐसा कानून बनाया है।

राहुल गांधी  का चुनाव आयोग को जवाब, नहीं किया आचार संहिता का उल्लंघन


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव आयोग को 11 पन्नों में जवाब भेजा है। राहुल गांधी ने  अपनें जवाब में कहा है कि जब शहडोल में उन्होंने कहा था कि मोदी सरकार ने ऐसा कानून बनाया है। जिसमें आदिवासियों को गोली मारने की अनुमति दी गई है, तो ये आचार संहिता का उल्लंघन नहीं था। राहुल ने कहा कि मेरा बयान आदिवासियों के खिलाफ नहीं था, बल्कि उनके लिए बनाई मोदी सरकार की नीतियों पर था। लिहाजा भाजपा की शिकायत को रद्द कर देना चाहिए।

अपको बता दें 23 अप्रैल को मध्य प्रदेश के शहडोल में राहुल ने अपने एक बयान में दावा किया था, मोदी सरकार ने एक नया कानून बनाया है। इस कानून में आदिवासियों को गोली मारने की इजाजत दी गई है। राहुल के इस बयान पर चुनाव आयोग ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

राहुल ने कहा, ''मैं कांग्रेस का स्टार प्रचारक हूं, इसलिए मेरे खिलाफ आई भाजपा की शिकायतें सिर्फ चुनाव अभियान में बाधा डालने से ज्यादा कुछ नहीं हैं। भाषणों में मोदी सरकार के कामकाज की आलोचना करना आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है। शहडोल में भाजपा की आदिवासी विरोधी नीतियों को लेकर दिया गया था। इसलिए शिकायत को रद्द किया जाए।''