कई हीरो पर भारी पड़ा अकेला ये खलनायक


अमरीश पुरी बॉलीवुड के एक ऐसे विलेन थे जिन्हें आजतक कोई टक्कर नहीं दे सका। मोगैंबो ने लगभग 400 बॉलीवुड फिल्मों में काम किया..

कई हीरो पर भारी पड़ा अकेला ये खलनायक


 

अमरीश पुरी, बॉलीवुड की दुनिया का एक ऐसा नाम..जो कभी मुबंई आए हीरो बनने के लिए। लेकिन मुबंई को उनके लिए कुछ और ही मंजूर था। फिर अमरीश ने बॉलीवुड की विलेन की दूनिया में कदम रखा और लोग उन्हें विलेन के रूप में पहचाने लगे। अमरीश पुरी का जन्म 22 जून 1932 को पाकिस्तान के लाहौर में हुआ था। 12 जनवरी 2005 को इस एक्टर ने दुनिया को अलविदा कह दिया। बॉलीवुड में विलेन की दूनिया जब किसी किरदार का नाम लिया जाता है तो जहन में सबसे पहले अमरीश पुरी का मोगैंबो किरदार उभरकर आ जाता है। अमरीश पुरी बॉलीवुड के एक ऐसे विलेन थे जिन्हें आजतक कोई टक्कर नहीं दे सका। मोगैंबो ने लगभग 400 बॉलीवुड फिल्मों में काम किया। जिनमें उन्होनें एक आर्दशवादी पिता से लेकर खूंखार विलेन तक अभिनय किया। जिनमें से कई किरदार ऐसे थे जो आज भी लोगों की जुबान पर जिंदा हैं। उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको बताते हैं अमरीश पुरी के कुछ खास किरदारों के बारे में.....

 

अमरीश पुरी ने 1987 सत्ताशी में रिलीज हुई फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में एक विलेन का किरदार निभाया था जिसमें उनका नाम ‘मोगैंबो’ था। अमरीश का ये किरदार आज भी लोगों के जहन में ताजा है। इस फिल्म में उनका एक डायलॉग था ‘मोगैंबो’खुश हुआ। ये डायलॉग इतना फेमस है कि लोग आज भी इसे दोहराते हैं।  ‘नगीना’ में अमरीश ने एक सपेरे तांत्रिक का रोल निभाया था। अमरीश इस फिल्म में भी विलेन बने थे। 1986 छियासी में रिलीज हुई इस फिल्म में श्रीदेवी और ऋषि कपूर लीड रोल में थे। इस फिल्म में अमरीश पुरी का एक डायलॉग था ‘अलक निरंजन बोलत’, ये डायलॉग काफी फेमस हुआ था। शाहरुख खान और सलमान खान की फिल्म 'करण-अर्जुन' में अमरीश ने जिस तरह एक विलेन का रोल निभाया था वो शाहरुख और सलमान पर भारी पड़ गए थे। उसमें वो ठाकुर दुर्जन सिंह बने थे जो पैसों के लिए अपने भाई का ही खून कर देता है। अमरीश का ये रोल भी काफी दमदार था।

जब भी अमरीश के नेगेटवि रोल को याद किया जाएगा तो उनकी फिल्म लोहा को जरूर याद किया जाएगा। साल 1987 सत्तासी में आई 'लोहा' फिल्म का किरदार अमरीश पुरी के फिल्मी करियर का सबसे खतरनाक किरदार माना जाता है। इसमें अमरीश पुरी की न केवल एक्टिंग बल्कि उनके लुक ने भी लोगों को डरा दिया था। राकेश रोशन के निर्दशन में बनी फिल्म ‘कोयला’ 7 अप्रैल 1997 संतांवे में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में अमरीश पुरी ने जो नेगेटिव रोल निभाया था वो सालों तक लोगों को याद रहा था। फिल्म में अमरीश पुरी ने राजा साहब का किरदार किया था।

वहीं 2001 को रिलीज हुई अनिल कपूर की फिल्म ‘नायक’ जिसमें अमरीश  ने मुख्यमंत्री का रोल निभाया और अपनी कुर्सी बचाने के लिए शहर में दंगा बढ़ने देता है। अमरीश का ये रोल काफी फेमस हुआ था। अमीषा पटेल और सनी देओल की फिल्म 'गदर एक प्रेम कथा' में अमरीश पुरी ने खूसट बाप का किरदार निभाया था। इस फिल्म में अमरीश पुरी एक कट्टर पाकिस्तानी नेता के रोल में नजर आए थे। वो अपने जीवन के अंतिम दिनों में ब्लड कैंसर से जूझ रहे थे और फिर कई मशहूर फिल्में देने के बाद 73 तिहतर वर्षीय अमरीश पुरी 12 जनवरी, 2005 को हमेशा के लिए ये दुनिया छोड़ कर चले गए