बिहार में दिमागी बुखार से 152 बच्चों की मौत


बिहार में चमकी बुखार के चलते अब तक 152 बच्चों की मौत हो चुकी है। इसका सबसे ज्यादा असर मुजफ्फरपुर में दिखा है..

बिहार में दिमागी बुखार  से 152 बच्चों की मौत


 

बिहार में चमकी बुखार से बच्चों की मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। बिहार में दिमागी बुखार के चलते अब तक 152 बच्चों की मौत हो चुकी है। बुखार का सबसे ज़्यादा असर मुजफ्फरपुर में दिखा है। अकेले मुजफ्फपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में बुखार से अब तक 130 बच्चों की मौत हो चुकी है। सोमवार को बिहार के मुजफ्फरपुर के एसएमकेसीएच अस्पताल के आईसीयू के बाहर छत का एक हिस्सा भी गिर गया हालांकि इसमें किसी के घायल होने की कोई खबर नहीं है।

 

चमकी बुखार पर काबू पाने के लिए डॉक्टरों द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन अभी तक इस बीमारी से मरने वालों की संख्या पर काबू नहीं पाया जा सका है। बिहार के हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद पशुपति कुमार पारस और विधायक राजकुमार साह चमकी प्रभावित हरिवंशपुर गांव पहुंचे। इस दौरान बच्चों की मौत से नाराज़ पीड़ित परिवार वालों ने दोनों सांसद और विधायक को काफि खरी खोटी सुनाई और उन्हें चारों ओर से घेर लिया। बता दें कि इस गांव में भी चमकी बुखार से 5 लोगों की मौत हो चुकी है, लेकिन अबतक कोई जनप्रतिनिधि गांव में नहीं सुध लेने नहीं पहुंचा। इससे लोग खासे नाराज़ हैं। विधायक राजकुमार शाह ने पीड़ित परिवारों को 5 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी और जरूरी दवाएं भी बांटी जिसके बाद ही लोगों ने विधायक और सांसद को जाने दिया।

Recent Posts

Categories