पिछले पांच सालों में फूलों के कारोबार में भारी गिरावट


पिछले पांच वर्षो में फूलों के कारोबार में भारी गिरावट के चलते किसानों और फूल कारोबारियों ने प्लास्टिक के फूलों के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया..

पिछले पांच सालों में फूलों के कारोबार में भारी गिरावट


लागत तक नहीं निकाल पा रहे किसान

पिछले पांच वर्षो में फूलों के कारोबार में भारी गिरावट के चलते किसानों और फूल कारोबारियों ने प्लास्टिक के फूलों के विरोध में धरना-प्रदर्शन किया। इस दौरान फूल कारोबारियों ने केन्द्र सरकार से मांग की वह तुरंत प्रभाव से प्लास्टिक के फूलों के कारोबार पर प्रतिबंध लगाए जिससे फूलों का कारोबार पटरी पर लौट सके और किसानों को उनका हक मिल सके। किसानों ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि जिस तरह से उन्होंने लाल किले के प्राचीर से सिंग्ल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर दो अक्टूबर से पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की बात कही है उसी तरह से चीन से आने वाले प्लास्टिक के फूलों पर भी प्रतिबंध लगाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि अगर सरकार जल्द ऐसा नहीं करती तो वह दिन दूर नहीं जब फूलों के कारोबार से जुड़े किसान और व्यापारी आत्म हत्या करने को मजबूर हो जाएंगे। इस धरना प्रदर्शन में गाजीपुर फूल मंडी के पूर्व सदस्य व फूल कारोबार ब्रिज मोहन खनगवाल, गाजीपुर फ्लावर मार्केट ट्रेडर्स एसोसिएशन (दिल्ली) के चुने हुए सदस्य तेग बहादुर चौधरी, फ्लावर मार्केटिंग कमेटी गाजीपुर के सदस्य कृष्ण कुमार सैनी, फ्लावर मार्केट समिति के पूर्व उपाध्यक्ष कृष्णन लाल यादव, फ्लावर ग्रोवर क्लब के अध्यक्ष गुरविंदर सिंह सोही, समेत फूल उगाने वाले किसानों में मुकेश तोमर, सुशील चौहान आदि मौजूद थे।