ऑर्बिटर के द्वारा खींची गईं लैंडर की तस्वीरें


चांद की सतह से महज 2 किलोमीटर दूरी पर सम्पर्क टूट जाने के बाद रविवार को उसके चांद पर मिलने की खबरों से थोड़ी उम्मीदें बढ़ी..

ऑर्बिटर के द्वारा खींची गईं लैंडर की तस्वीरें


 

चंद्रयान-2 के चांद की सतह से महज 2 किलोमीटर दूरी पर सम्पर्क टूट जाने के बाद रविवार को उसके चांद पर मिलने की खबरों से थोड़ी उम्मीदें बढ़ी। लेकिन इस बारे में इसरो चीफ के सिवन ने साफ कर दिया है कि अभी तक लैंडर विक्रम से कोई संपर्क नहीं हो पाया है जिससे इसरो के वैज्ञानिक परेशान है।

जबकि इसरो ने बीते कल ऑर्बिटर द्वारा खींची गई थर्मल इमेज के बाद कहा था कि उसने लैंडर का सटीक लोकेशन पता लगा लिया है। वहीं इस बारे में ये भी कहा जा रहा है कि लैंडर की हार्ड लैंडिंग हुई और उसकी स्थिति के बारे में कोई सूचना नहीं है। इस बारे में कुछ भी कहना फिलहाल सही नहीं है कि आखिर कब तक लैंडर से संपर्क हो पाएगा।