सुदूर इलाकों के लिए मेडिकल सीटों में होगा कोटा


ग्रामीण और सुदूर इलाकों के लिए मेडिकल सीटों में होगा आरक्षण, पीछे हटने पर हो सकती है जेल..

  सुदूर इलाकों के लिए मेडिकल सीटों में होगा कोटा


 

महाराष्ट्र सरकार ग्रामीण और दूर के इलाकों में मेडिकल सुविधाएं पहुंचाने को लेकर एक नई पहल करने जा रही है जिसके तहत एमबीबीएस और मेडिकल पोस्टग्रैजुएट कोर्स में दाखिल लेने के इच्छुक छात्रों के लिए एक कोटा तैयार किया गया है। इसमें ग्रामीण और सुदूर इलाकों में काम करने के इच्छुक छात्र आरक्षण पा सकेंगे। महाराष्ट्र सरकार ने ये फैसला इसलिए लिया है ताकि ग्रामीण और दूर-दराज के इलाकों में जहां स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है वहां लोगों को ये सुविधाएं मिल सके।

इस आरक्षण के तहत ये डॉक्टर इन क्षेत्रों में जाकर वहां अपनी सेवाएं देगें। लेकिन अगर  ये छात्र डिग्री पूरी होने के बाद पीछे हटते हैं तो इन्हें जेल भेजी जा सकता है साथ ही ऐसे छात्रों की डिग्री भी जा सकती है। महाराष्ट्र सरकार ने 20% मेडिकल पोस्टग्रैजुएशन और 10% एमबीबीएस सीटें ऐसे डॉक्टरों के लिए रिजर्व करने का प्रस्ताव रखा है, जो अंदरूनी इलाकों में जाकर काम करने के इच्छुक हों।