महाराष्ट्र कैबिनेट : चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार समेत 18 मंत्रियों ने ली शपथ, कैबिनेट में एक भी महिला मंत्री नहीं


कैबिनेट विस्तार के लिए उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रूप देने के लिए सीएम एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को मालाबार हिल्स में नंदनवन बंगले में दो घंटे लंबी बैठक की थी।

महाराष्ट्र कैबिनेट : चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार समेत 18 मंत्रियों ने ली शपथ, कैबिनेट में एक भी महिला मंत्री नहीं


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के शपथ लेने के 40 दिन बाद मंगलवार को महाराष्ट्र में मंत्रीमंडल का विस्तार हुआ। शिंदे कैंप और बीजेपी के कुल 18 मंत्रियों ने शपथ ली। वहीं एक भी महिला मंत्री ने शपथ नहीं ली है। नियमों के अनुसार महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री समेत कुल 43 मंत्री शपथ ले सकते हैं।

बीजेपी की ओर से चंद्रकांत पाटिल, सुधीर मुनगंटीवार, राधाकृष्ण विखे पाटिल, गिरीश महाजन, सुरेश खाड़े, अतुल सावे, विजय कुमार गावित, रविन्द्र चव्हाण और मंगल प्रभात लोढ़ा ने मंत्री पद की शपथ ली।

शिवसेना (शिंदे गुट) के जिन विधायकों ने शपथ ली है उनमें दादासाहेब भुसे, उदय सामंत, तानाजी सावंत, अब्दुल सत्तार, दीपक केसरकर, गुलाबराव पाटिल, संदीपन भुमरे, शंभूराजे देसाई और संजय राठौर शामिल हैं। शपथ लेने वाले विधायकों की लिस्ट जारी होने के बाद एकनाथ शिंदे खेमे के विधायक मुंबई के सह्याद्री गेस्ट हाउस पहुंचे, जहां बैठक हुई।

शपथग्रहण के बाद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा, “मंत्रिमंडल का विस्तार आज हुआ है। अपने-अपने विभाग की ज़िम्मेदारी सब लोग संभालेंगे। इस राज्य की जनता को जो काम चाहिए वो किया जाएगा। राज्य का सर्वांगीण विकास करने को ये लोग काम करेंगे। इसके बाद भी मंत्रिमंडल का विस्तार बाकी है।”

वहीं एक सूत्र ने बताया कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल के मंत्री बनने के बाद बांद्रा (पश्चिम) के विधायक आशीष शेलार के नाम पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए विचार किया जा सकता है। कैबिनेट विस्तार के लिए उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रूप देने के लिए सीएम एकनाथ शिंदे और डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को मालाबार हिल्स में नंदनवन बंगले में दो घंटे लंबी बैठक की थी।

106 विधायकों वाली बीजेपी के पास सभी नेताओं को खुश रखने की चुनौती है। हालांकि पिछले महीने पार्टी के सम्मेलन में देवेन्द्र फडणवीस ने पार्टी के सदस्यों को यह स्पष्ट कर दिया था कि हर किसी की आकांक्षाओं को पूरा करना संभव नहीं है और उन्हें यथार्थवादी होने की जरूरत है। वहीं उद्धव ठाकरे की शिवसेना के लिए मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। संजय राउत को कोर्ट ने 22 फरवरी तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है।

बता दें कि 30 जून को एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री और देवेन्द्र फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। शिंदे के पास शिवसेना के बागी विधायकों और निर्दलियों का मिलाकर कुल 50 विधायकों का समर्थन है।

Recent Posts

Categories