जल्द ही टोकन से बटेगी खाद


किसानों को उर्वरक की मारामारी की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए कईं राज्य अथक प्रयास कर रहे हैं। हाल ही में, मध्यप्रदेश में एक दिन पहले तक खाली पड़ी प्राइवेट दुकानें और सरकारी गोदामों को मंगलवार को फिर से खाद की बोरियों से भर दिया गया है।

जल्द ही टोकन से बटेगी खाद


किसानों को उर्वरक की मारामारी की समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए कईं राज्य अथक प्रयास कर रहे हैं। हाल ही में, मध्यप्रदेश में एक दिन पहले तक खाली पड़ी प्राइवेट दुकानें और सरकारी गोदामों को मंगलवार को फिर से खाद की बोरियों से भर दिया गया है।

यूरिया खाद की रैक दतिया रेलवे स्टेशन पर पहुंचीं। जिसके बाद प्राइवेट दुकान किसानों की मांगों के अनुरूप ट्रकों में खाद की बोरियां लादकर ले गए।

खबरों के मुताबिक, लगभग 2000 मीट्रिक टन जिले में प्राइवेट और सरकारी गोदामों में पहुंची है। जबकि 800 मीट्रिक टन भिंड और ग्वालियर भेजी गई है। कृषि विभाग ने भी राज्य के किसानों को आसानी से खाद की बोरियां मुहैया कराने के लिए सभी सरकारी गोदामों पर टोकन सिस्टम शुरू कर दिया है। जबकि प्राइवेट दुकानों पर विभाग के 2 -2 कर्मचारी तैनात किए गए हैं। 



यह भी पढ़ें-

किसानों को बिज़ली बिल पर मिल रही है 865 रूपये मासिक सब्सिडी

http://www.panchayatitimes.com/newsdetail.php?id=377



300 मीट्रिक टन यूरिया भिंड जिले के लहार कस्बे में और 500 मीट्रिक टन यूरिया ग्वालियर समेत अन्य जगहों पर मांग के अनुसार भेजा गया था। स्टेशन पर रैक लगते ही ट्रकों की लाइन खाद की बोरियां लादने के लिए लग गईं और खाद लेकर जाने लगीं। 

Recent Posts

Categories