13 जुलाई को शहीदी दिवस के रूप में मनाते हैं अलगाववादी


जम्मू-कश्मीर में 13 जुलाई को शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है जबकि राज्य सरकार इस दिन को 1947 में आजादी के लिए लड़ने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान में मनाती है..

13 जुलाई को शहीदी दिवस के रूप में मनाते हैं अलगाववादी


 

अलगाववादियों द्वारा बुलाए गए बंद के कारण शनिवार को अमरनाथ यात्रा स्थगित कर दी गई है दरअसल 13 जुलाई को जम्मू-कश्मीर में शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है जबकि राज्य सरकार इस दिन को 1947 में आजादी के लिए लड़ने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान में मनाती है जिसके चलते यात्रा कानून-व्यवस्था को ध्यान में रखते हुअ यह निर्णय लिया गया है जिसके चलते शनिवार को जम्मू से श्रीनगर जाने वाले तीर्थयात्रियों की आवाजाही बंद रहेगी।

दरअसल 1931 में डोगरा महाराजा की सेना द्वारा श्रीनगर सेंट्रल जेल के बाहर गोलीबारी में मारे गए लोगों की स्मृति में इस दिन को शहीदी दिवस के रूप में मनाया जाता है जबकि राज्य इस दिन को 1947 की आजादी की लड़ाई में लड़ने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान में इस दिन को मनाती है। गौरतलब है कि 1 जुलाई से शुरू हुई अमरनाथ यात्रा में अबतक 1.50 लाख तीर्थयात्री बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं। बाबा अमरनाथ की यात्रा 15 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा को समाप्त होगी।

Recent Posts

Categories